म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें (How to Invest in Mutual Funds in Hindi)

म्यूचुअल फंड में निवेश कैसे करें, क्या है, फायदे, मतलब (How to Invest in Mutual Funds, App, Online Calculator, Plans, Guide in Hindi)

हर व्यक्ति कम समय में अधिक पैसा कमाने की सोचता है और ऐसा करने के लिए बाजार में कई तरह के विकल्प भी मौजूद हैं. इन विकल्पों के जरिए कोई भी कम समय में ज्यादा पैसे कमा सकता है. लेकिन अधिकतर लोगों को इन विकल्पों के बारें में ज्यादा जानकारी नहीं होती है. जिसके चलते वो चाहते हुए भी अपने पैसों को इन्वेस्ट या निवेश नहीं कर सकते हैं. इसी तरह लोगों ने म्यूचुअल फंड के बारे में काफी बार सुना होता है. मगर उनको ये नहीं पता होता कि म्यूचुअल फंड में आखिर वो किस तरह से अपना पैसा निवेश कर सकते हैं. वहीं आज हमारे इस लेख को पढ़ने के बाद आप आसानी से ये जान सकेंगे की आखिर क्या होते हैं म्यूचुअल फंड? और किस तरह आप म्यूचुअल फंड में अपने पैसे निवेश कर अच्छा खासा धन कमा सकते हैं.

mutual fund investment

म्यूचुअल फंड क्या है (What is Mutual Funds)   

एक म्यूचुअल फंड  के जरिए कई निवेशकों के पैसों को जमा किया जाता है और फिर निवेशकों के जमा किए गए पैसों को शेयरों, बॉर्डस, गोल्ड, शॉर्ट ट्रम मनी मार्केट, जैसी जगह पर लगाया जाता है. म्यूचुअल फंड को एसेट मैनेजमेंट कंपनी (एएमसी), इनकी समझ रखने वाले लोग या पेशेवर पैसे प्रबंधकों द्वारा संचालित किया जाता हैं, जो इन फंड को कई जगह पर निवेश करते हैं और इसके जरिए निवेशकों के लिए पूंजी लाभ करने की कोशिश करते हैं. लाभ हो जाने पर आपके द्वारा जितने म्यूचुअल फंड यूनिट खरीदी गई है, उस हिसाब से आपको पैसे दिए जाते है. अगर किसी व्यक्ति को परंपरागत और निवेश निर्णय लेने की ज्यादा समझ ना हो तो वो व्यक्ति म्यूचुअल फंड  पर अपने पैसे लगा सकते है. म्यूचुअल फंड में पैसा लगाने से आपको अच्छा खासा रिटर्न भी प्राप्त होता है.

म्यूचुअल फंड के प्रकार (Types of Mutual Funds)

  • इक्विटी फंड (What Is Equity Fund) :- ये ऐसे फंड होते हैं जो स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध घरेलू कंपनियों के शेयरों में निवेशकों द्वारा निवेश किए जाते हैं. इक्विटी फंड को उच्च जोखिम वाले फंड्स भी कहा जाता है. वहीं इसमें अधिक पैसा कमाने का भी मौका रहता है.
  • मनी मार्केट फंड (What Is Money Market Fund) :- अगर आप जल्द ही रिर्टन हासिल करना चाहते हैं तो आप इन फंड में अपने पैसे निवेश कर सकते हैं. इन फंड को कम जोखिम भरा माना जाता है. इन फंडों द्वारा ट्रेजरी बिल, वाणिज्यिक पत्र, रिर्पचेज़ करार और सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश किया जाता हैं.
  • डेब्ट फंड (What Is Debt Fund) :- डेब्ट फंड, फिक्स्ड डिपॉजिट के तरह ही होते हैं. ये फंड निश्चित आय प्रतिभूतियों में निवेश करते हैं, जैसे सरकारी बॉन्ड. वहीं इन फंड के रिर्टन में कर नहीं लगता है और ये फंड कम जोखिम वाले भी होते हैं.
  • हाइब्रिड या संतुलित फंड (What Is Hybrid Fund) :– इन फंडों के अंतर्गत स्थिर सुरक्षा आय यानी डेब्ट फंड और स्टॉक यानी इक्विटी में निवेश किया जाता है. इसलिए अगर कोई व्यक्ति डेब्ट और इक्विटी फंड दोनों पर ही निवेश करना चाहता है, तो वो हाइब्रिड फंड में निवेश कर सकता है. हाइब्रिड फंड में निवेश किए गए पैसों के कुछ हिस्से को डेब्ट और कुछ हिस्से को इक्विटी फंड पर निवेश किया जाता है.

कैसे करे म्यूचुअल फंड पर निवेश (How to Invest in Mutual Funds in Hindi)

किसी भी तरह का म्यूचुअल फंड लेने से पहले आपको ये तय करना जरूरी है की आप कितने समय की अवधि के लिए अपने पैसों को इन फंड पर लगाना चाहते हैं. अगर आप अपने पैसों को कुछ सालों के लिए ही इन फंड पर लगाने चाहते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको ऊपर बताए गए चार प्रकार के म्यूचुअल फंड में से डेब्ट फंड का चुनाव करना चाहिए. इसके अलावा आप कितनी राशि म्यूचुअल फंड पर लगाने के लिए तैयार हैं इसके बारे में भी अच्छी तरह से सोच लें. अगर आप ज्यादा राशि इस फंड में निवेश करते हैं तो आपको फायदा भी उतना ही ज्यादा होगा. लेकिन इसमें ज्यादा जोखिम जुड़ा हुआ है. वहीं कम राशि पर आपको कम लाभ होगा और कम जोखिम का खतरा रहता है.

ध्यान रखने वाली बातें (Factors to Consider Before Investing in Mutual Funds)

महज 500 रूपए की राशि के साथ कोई भी व्यक्ति म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं. वहीं किसी भी म्यूचुअल फंड स्कीम पर पैसा लगाने से पहले आप उस स्कीम से जुड़ी कंपनी के बारे में अच्छे से जानकारी हासिल कर लें. अगर उस कंपनी का रिकॉर्ड अच्छा है, तभी उस कंपनी द्वारा लाई गई स्कीम पर अपना पैसा निवेश करें. इसके अलावा ये भी देख लें की जिस मैनेजर द्वारा आपके पैसे इन्वेस्ट किए जाएंगे उसके पास कितना अनुभव है.

  • क्या है आपका मकसद :- किसी भी म्यूचुअल फंड में पैसा लगाने से पहले आपको अपना एक लक्ष्य तैयार करना होगा. जैसी की आखिर आप किस मकसद के लिए ये पैसा निवेश कर रहे हैं. अगर आपको घर खरीदना है इसलिए आप ये पैसा निवेश कर रहे हैं तो आपको उस हिसाब से म्यूचुअल फंड लेना होगा. जानकारों के मुताबिक किसी भी फंड में पैसा लगाते समय इस चीजे के बारे में आपको पता होना चाहिए की कितने वर्षा तक आपको इन पैसों की जरूरत नहीं पड़ेगी.
  • कितने समय के लिए करना है निवेश :- अगर आप कम से कम पांच सालों के लिए अपना पैसा निवेश करना चाहते हैं तो आप इक्विटी पर अपना पैसा लगा सकते हैं. वहीं अगर पैसा निवेश करने की आपकी समय सीमा तीन से पांच साल के बीच की है तो आप हाइब्रिड फंड या फिर डेब्ट फंड में निवेश करें. वहीं एक तरह के फंड पर पैसे लगाने की वजह आप चाहे तो अपने कुछ पैसे इक्विटी फंड और कुछ पैसे डेब्ट फंड पर भी निवेश कर सकते हैं. वहीं आपको ये भी पता होना जरूरी है की फंड ओपन एंडेड और क्लॉज एंडेड होते हैं. अगर आपके द्वारा लिया गया फंड क्लॉज एंडेड होता है तो इन फंडों की परिपक्वता तय होती है और परिपक्वता से पहले आपको पैसा वापस नहीं मिलते हैं. वहीं ओपन एंडेड फंड होने पर आप कभी भी अपने पैसों को निकाल सकते हैं.
  • समय – समय पर दे ध्यान :- एक बार जब आप किसी फंड को खरीद लें हैं, तो समय-समय पर उस फंड की कीमत के बारे में पता करते रहें. फंड की कीमतों के बारे में बिजनेस अखबारों में समय-समय पर जानकारी दी जाती है, तो आप इन अखबारों के माध्यम से ये जानकारी हासिल कर सकते हैं. इसके अलावा आप एएमसी द्वारा बनाई गई वेबसाइट से भी ये जानकारी हासिल कर सकते हैं.

म्यूचुअल फंड से जुड़ा हुआ जोखिम (What are the Disadvantages of Investing in Mutual Funds)

हर म्यूचुअल फंड के साथ कोई ना कोई जोखिम जुड़ा होता है. वहीं अगर आपके द्वारा ज्यादा पैसे इन पर लगाए जाते हैं, तो आपको ज्यादा नुकसान होने का खतरा बना रहते हैं. इसलिए आप लोग इन फंड में एक साथ ज्यादा राशि लगाने से बचें.

कैसे खरीदें म्यूचुअल फंड (How to Buy Mutual Funds in Hindi)

अगर आप म्यूचुअल फंड लेने का सोच रहे हैं तो आप ऑनलाइन, ऑफलाइन, सीधे योजनाओं (Direct plan), नियमित योजना (regular plan) के जरिए म्यूचुअल फंड में निवेश कर सकते हैं और लाभ कमा सकते हैं.

  • ऑनलाइन के जरिए- (How to Start Investing in Mutual Funds Online)

नेट पर कई तरह के ऑनलाइन पोर्टल्स हैं, जिनके जरिए आप विभिन्न म्यूचुअल फंड योजनाओं में निवेश कर सकते हैं. नीचे आपको इन्हीं पोर्टल्स में से कुछ पोर्टल्स के लिकं दिए हुए हैं.

https://coin.zerodha.com/?c=1096ZZ

https://www.mysiponline.com/mutual-funds.php

https://www.camsonline.com/MyCAMS.aspx

  • बैंक के द्वारा– (Mutual Funds by Banks)

इसके अलावा कई बैंकों द्वारा भी इन फंड में निवेश करने की सुविधा दी जाती है. आप अपने बैंक द्वारा बनाए गए म्यूचुअल फंड पोर्टल्स में जाकर इससे जुड़ी जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं. यहां फिर अपने बैंक की शाखा में जाकर अपना एक खाता खुलवा सकते हैं, जिसके जरिए आप इन फंड में निवेश कर सकते हैं. वहीं यदि आपके पास डीमैट खाता है, तो आप इस खाते के माध्यम से ऑनलाइन म्यूचुअल फंड योजनाओं को खरीद और बेच सकते हैं.

  • ऑफलाइन के जरिए- (Mutual Funds by Offline)

आप सीधे तौर पर किसी  भी म्यूचुअल फंड एजेंट से संपर्क कर सकते हैं, एजेंट द्वारा आपको किस तरह से और किस फंड पर निवेश करना चाहिए इसके बारे में जानकारी दे दी जाएगी.

  • डायरेक्ट प्लान- (Mutual Funds By Banks)

म्यूचुअल फंड हाउस ने अपने मौजूदा फंड स्कीमों के अंतर्गत एक नई योजना बनाई है जिसे डायरेक्ट प्लान कहते हैं.  इस योजना की मदद से निवेशक बिना वितरकों के माध्यम के जरिए निवेश कर सकते हैं और ऐसा करने से उन्हें वितरकों को किसी भी तरह का शुल्क नहीं देना पड़ता है. वहीं अगर आप नियमित योजना को चुनते हैं तो आपके वितरकों को कुछ राशि देनी पड़ती है.

महत्वपूर्ण दस्तावेज (Mutual Fund Documents Required)

म्यूचुअल फंड में निवेश करने के दौरान आपको PAN कार्ड, अपने पते का साक्ष्य , पासबुक, पासपोर्ट फोटो, आधार कार्ड जैसे दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी. अगर आपके पास इनमें से कोई दस्तावेज नहीं है तो उसे फौरन उन्हें बनवा लें.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *