पूर्वांचल एक्सप्रेसवे क्या है, उद्घाटन (Purvanchal Expressway in Hindi, Inauguration)

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, क्या है, रूट, मैप, ताज़ा खबर, उद्घाटन, रेलवे लाइन,  (Purvanchal Expressway in Hindi) (Route, Map, News, Cost, Length, Inauguration)

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन 16/11/2021 को प्रधानमंत्री द्वारा सुल्तानपुर जिले के करवाल खेरी में किया गया। आपको बता दें कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के निर्माण कार्य ने कई दिनों से सुर्खियां बटोरी हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे इंफ्रास्ट्रक्चर की दृष्टि से उत्तर प्रदेश का एक बड़ा प्रोजेक्ट है। इस प्रोजेक्ट को कैरियर ऑफ डेवलपमेंट के तौर पर देखा जा सकता है। तो आइए, इस आर्टिकल के माध्यम से विस्तार से जानिए कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे किस प्रकार डेवलपमेंट में मदद करेगा। इस आर्टिकल में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से जुड़े महत्वपूर्ण पहलुओं पर चर्चा की जाएगी।

purvanchal expressway in hindi

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे (Purvanchal Expressway in Hindi)

योजना का नाम पूर्वांचल एक्सप्रेसवे 
आधार शिला 2018 में
राज्य उत्तर प्रदेश 
लागत ₹ 22,496 करोड़ रूपये 
उद्घाटन 16/11/2021 को प्रधानमंत्री द्वारा 
उद्देश्य इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट, इकोनॉमिक डेवलपमेंट

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे क्या है (What is Purvanchal Expressway)

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा पूर्ण किया गया एक बड़ा इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट है। इसकी नींव सन 2018 में रखी गई थी।इस प्रोजेक्ट की लागत करीब ₹ 22,496 करोड़ रुपयों की है। सरकार ने इस बात पर बल दिया है कि पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पूर्वांचल क्षेत्र की तरक्की में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की कुल लंबाई 341 किलोमीटर की है और इसका उद्घाटन सुल्तानपुर जिले के करवाल खेरी में किया गया है। मेगा एक्सप्रेसवे के तौर पर देखे जाने वाले इस प्रोजेक्ट से यूपी के पूर्वी क्षेत्र में इकोनॉमिक डेवलपमेंट होने की प्रबल संभावना है।

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का महत्व और विशेषताएं (Purvanchal Expressway Features)

  • इस योजना की आधारशिला 2018 में अस्तित्व में आई थी।
  • पूर्वांचल एक्सप्रेसवे में लगभग ₹ 22,496 करोड़ रूपये खर्च किए गए हैं।
  • इसकी शुरुआत चंदसराय गांव से होती है जो की लखनऊ जिले के अंतर्गत आता है।
  • पूर्वांचल एक्सप्रेसवे हैदरीया गांव में खत्म होता है को कि नेशनल हाईवे 31 पर मौजूद है।
  • वर्तमान स्थिति में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे में छह लेन्स मौजूद हैं और संभावना है कि इसे बढ़ा कर आठ लेन का बनाया जाए।
  • पूर्वांचल एक्सप्रेसवे एनसीआर और पूर्वी उत्तरप्रदेश के बीच सीधा कनेक्शन स्थापित करता है।
  • 341 किलोमीटर की पूर्वांचल एक्सप्रेसवे लखनऊ से बक्सर तक की दूरी साढ़े तीन घटा देगा।
  • पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को इकोनॉमिक डेवलपमेंट की दृष्टि से एक महत्वपूर्ण पहल के तौर पर देखा जा रहा है।
  • पूर्वी उत्तरप्रदेश में मौजूद लखनऊ, अमेठी, गाजीपुर, आजमगढ़ आदि क्षेत्रों के लिए पूर्वांचल एक्सप्रेसवे लाभकारी है।
  • पूर्वांचल एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट के लिहाज से लिया गया एक बड़ा और सराहनीय कदम है।
  • पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के मौजूद होने से बिहार और यूपी के क्षेत्र को आसानी से जोड़ा जा सकेगा।
  • पूर्वांचल एक्सप्रेसवे एक मेगा एक्सप्रेसवे है जिसे देश के सबसे बड़े ऑपरेशनल एक्सप्रेसवे होने का गौरव प्राप्त है।
होम पेज यहाँ क्लिक करें

अन्य पढ़ें –

  1. भारत में S-400 एयर डिफेंस सिस्टम क्या है
  2. क्या ‘भीख’ में मिली थी 1947 की आजादी
  3. प्रधानमंत्री मोदी जी का जीवन परिचय
  4. दुनिया के 7 अजूबे कौन कौन से हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *