समय का महत्व

समय का मतलब एवं महत्व, निबंध (Importance of Time, Quotes, Essay, Management, Meaning and Value in Hindi)

मनुष्य के जीवन में सबसे मूल्यवान वस्तु उसका समय ही है. आज हम बात करेंगे समय के बारे में समय क्या है और उसका आपके जीवन में क्या महत्व है? समय आपके लिए कितना कीमती है इस बात का अंदाजा आज हमारी इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको लग जाएगा. तो चलिए सबसे पहले जान लेते हैं क्या है समय.

समय क्या है ? (What is Time ?) 

यदि समय को सरल शब्दों में परिभाषित करें तो आज का दिन जो आप जी रहे हैं वह आपके लिए सबसे कीमती पल है. वैसे तो उस समय किसी के लिए भी नहीं रुकता है परंतु उस समय का सही इस्तेमाल हर किसी को नहीं आता है. यदि आप अपने आज का सही इस्तेमाल करें तो आप अपने भविष्य को अपने आज से एक नई राह प्रदान करते हैं. यदि विशेषज्ञों की मानें तो वे अपने अनुभव के अनुसार यही कहते हैं कि जो समय का सम्मान नहीं करता है समय उसकी परवाह कभी नहीं करता है. एक समय ही ऐसा है जो इंसान को बर्बाद और आबाद पल भर में दोनों ही कर सकता है. मनुष्य के जीवन में यदि वह सबसे अधिक महत्व समय को देता है तो वह अपने जीवन में एक नया विकास और अनुभव प्राप्त कर सकता है.

इंसान कभी भी किसी भी वस्तु की कीमत अपने आप नहीं समझ पाता है. उनको हर चीज का महत्व और कीमत का महत्व और कीमत समझाने का सबसे बड़ा योगदान उनके जीवन में उनके माता-पिता और अध्यापक ही सिखाते हैं. हर माता-पिता की कोशिश यही रहनी चाहिए कि वह चाहिए कि वह बचपन से ही अपने बच्चों को समय की सही कीमत और उसका महत्व समझा सके. ताकि बच्चे में सीख लेकर अपने भविष्य को एक नया और उज्जवल रूप बना सके.  तो चलिए अब जान लेते हैं क्यों है समय इतना कीमती और क्यों इतना अधिक महत्व समय को देना आवश्यक है.

समय का महत्व समझने के लिए जान ले यह बातें (Some Important Points for Understand The Importance of Time)

  • मनुष्य के जीवन में समय का क्या महत्व है इसका निर्धारण जीवन की परिस्थितियों द्वारा होता है. आपके जीवन के पड़ाव आप के समय के महत्व पर बहुत निर्भर करते हैं. जैसे जीवन का कोई पल आपके लिए बेहद अमूल्य होता है तो कोई पल आपके लिए कोई मूल्य नहीं रखता है. बात करें जीवन के आरंभ के पड़ाव के बारे में तो उन दिनों में एक बालक के लिए समय का कोई महत्व नहीं होता है.
  • एक बालक जो बिल्कुल भी किसी बात की जानकारी या सोच समझ नहीं रखता है. उसके लिए समय मूल्यवान हो ही नहीं सकता क्योंकि वह उस समय सिर्फ खेलना, कूदना, खाना-पीना और सोना यही क्रियाएं कर पाता है. उसके बाद आते हैं किशोरावस्था पर, किशोरावस्था का दौर जीने वाला व्यक्ति सरल स्वभाव का होता है उस समय उसकी सोच विचार विकासशील रूप में होते हैं.
  • किशोरावस्था वाले बालक के मस्तिष्क में समय के महत्व को अच्छी तरह से समझाना और डाल पाना उसके माता-पिता और अध्यापक के ही हॉट पर होता है. यह अवस्था ऐसी होती है जिसमें मस्तिष्क समय के अधिकतम प्रभावों के बारे में समझने की कोशिश में होता है. मनुष्य के जीवन का यह पड़ाव किशोरावस्था से युवावस्था तक उन्हें ले जाता है.
  • यदि वे इस समय समय का सही महत्व समझ पाते हैं तो वह अपनी युवावस्था को बेहतर बनाने में बहुत हद तक सफल हो पाते हैं. क्योंकि युवावस्था आपके जीवन को एक नई गति प्रदान करने वाली होती है. युवावस्था के दौरान समय के सही महत्व को समझना इंसान के लिए बेहद जरूरी होता है क्योंकि वह उस समय अपने वर्तमान और भविष्य का निर्माण करने हेतु कार्यरत रहता है.
  • अब यदि समय के सही महत्व को समझना किसी इंसान को अच्छी तरह आ गया है तो वह परिस्थितियों को अपने उचित ढंग से जांच परख कर समय का सदुपयोग करना सीख जाता है. चलिए एक उदाहरण द्वारा इस बात की पुष्टि करते हैं…. मान लीजिए आप ऑफिस में हैं और आपको एक बहुत जरूरी काम एक समय सीमा के भीतर ही पूर्ण करना है.
  • ठीक उसी समय आपके एक मित्र का फोन आपके पास आता है. आपका वह मित्र आपका बहुत पुराना मित्र है जो आपको सालों बाद मिलने आया है. ऐसे में आप अपने ऑफिस का काम पूरा करेंगे या फिर अपने दोस्त से मिलने चले जाएंगे. इस जगह पर आपको समय को महत्व देते हुए अपने कौन से काम को प्राथमिकता देने हैं. यही निर्धारण करने में आपका मस्तिष्क आपका सहयोग करता है.
  • आपका मस्तिष्क आपको सही दिशा निर्देश तभी प्रदान करेगा जब आपके मस्तिष्क में समय की महत्ता के बारे में पूर्ण जानकारी उपलब्ध होगी. ऐसी परिस्थिति में यदि आप अपनी सभी प्राथमिकताओं को समझते हैं तो आप सबसे पहले शीघ्रता से अपने ऑफिस का काम पूरा करेंगे. समय की प्राथमिकता को समझते हुए अपने ऑफिस का काम पूरा करने के बाद ही आप अपने मित्र से मिलने जाएंगे.

सीमित समय (Time Limit)

पृथ्वी पर हर मनुष्य के जन्म के साथ ही उसका मृत्यु का समय निर्धारित कर दिया जाता है. ऐसे में प्रत्येक मनुष्य के पास एक सीमित समय अवधि होती है जो उन्होंने पृथ्वी पर रहकर व्यतीत करनी होती है. अब यदि हम ईश्वर की इच्छा का ही पालन नहीं करेंगे तो समय का महत्व कैसे सीख पाएंगे. जैसा कि आपको बताया कि आपके पास सीमित समय है तो उस समय का सदुपयोग करना आपके लिए बेहद आवश्यक है. प्रत्येक परिस्थिति, प्रत्येक काम को समय के अनुसार प्राथमिकता देना है आपके सही समझदारी है. एक समझदार व्यक्ति हमेशा ही अपनी समझदारी से समय के महत्व को समझते हुए अपने काम को प्राथमिकता देते हैं. वहीं दूसरी ओर समय का महत्व ना समझने वाले मूर्ख व्यक्ति सदैव ही अपने काम से पीछा छुड़ाने की सोचते हैं. अपने समय का दुरुपयोग करना उन्हें भली-भांति आता है.

समय बेहद अमूल्य है (Time is Extremely Priceless)

यदि बात की जाए एक समझदार व्यक्ति की तो उसके लिए उसका समय बेहद अमूल्य होता है. कोई भी काम एक निर्धारित समयावधि में पूरा करने वाला व्यक्ति ही समय का मूल्य समझ सकता है. कहते हैं समय एक ऐसी वस्तु है जो हाथ से चली जाए तो वापस लौट कर नहीं आती है. कभी-कभी इंसान के सामने ऐसी परिस्थिति होती है वह अपने सही समय के मूल्य को नहीं समझ पाता है और अपने हाथ से उस परिस्थिति को खो देता है जो शायद जीवन में उसके सामने एक बार ही आनी होती है. इसलिए इंसान के लिए बेहद जरूरी है कि वह समय का सही महत्व समझते हुए कार्य करें. सफलता के आसमान को छूने के लिए समय को महत्व देना बेहद जरूरी है और उस महत्व को पूर्ण तरह समझना एक मनुष्य के जीवन की सफलता प्राप्त करने की सबसे बड़ी कुंजी है.

मनुष्य के जीवन का सबसे बेशकीमती हीरा है समय जिसकी कीमत ना समझने की वजह से वह अपने जीवन में सिर्फ असफलता का ही मुख देखता है. जो व्यक्ति समय का महत्व समझते हैं वह आज का काम कभी भी कल पर नहीं टालते हैं. ऐसे व्यक्तियों का सम्मान समय स्वयं करता है. परंतु जो व्यक्ति समय को अनदेखा कर देता है समय उनको और सफलता की ओर ही धकेल देता है. हमारी दिनचर्या के अनुसार हमारे काम भी सीमित और निर्धारित होते हैं. इसलिए प्रत्येक मनुष्य की कोशिश यही रहनी चाहिए कि पूर्व निर्धारित करें पूर्व निर्धारित समय में ही पूरे हो जाने चाहिए.

सुखों की प्राप्ति (Reception of Pleasures)

मनुष्य अपने जीवन में सुख प्राप्त करने के लिए प्रत्येक संभव प्रयास करता है. उसके प्रत्येक प्रयास असफल हो जाते हैं जब वह समय के महत्व को नहीं समझ पाता है. सुखों की प्राप्ति भी उसी मनुष्य को होती है जो असल जिंदगी में समय के सही महत्व को समझते हुए कार्य करता है और आगे बढ़ता है. एक समझदार व्यक्ति जो समय के महत्व को समझते हुए कार्य करता है वह जीवन में सदैव ही सुखों की प्राप्ति करता है. परंतु जो व्यक्ति समय को अनदेखा कर देता है उसके जीवन में सुख उसके दरवाजे पर नहीं आते हैं. वह हमेशा ही दुखों को भोक्ता है और अपनी किस्मत को कोसता है परंतु वह कभी भी समय को प्राथमिकता नहीं देता है. यदि आप चाहते हैं आप जीवन में अपार सुख की प्राप्ति करें तो सबसे अधिक महत्वपूर्ण यही है कि आप सबसे पहले समय के सही महत्व को समझें. समय के सही महत्व को समझते हुए उसका सदुपयोग करें ताकि आपके जीवन में कोई भी दुख आपके नजदीक ना आ सके.

निष्कर्ष (Conclusion)

निष्कर्ष में हम यही कहना चाहेंगे कि समय का महत्व समझते हुए ही इंसान को कार्य करने चाहिए अन्यथा वह सफलता की ओर जाते हुए भी और सफलता के गड्ढे में गिर जाता है. समय बेहद बलवान होता है जो किसी के लिए नहीं रुकता है. समय लगातार अपनी गति से चलता रहता है परंतु उसकी गति के साथ इंसान अक्सर नहीं चल पाता है. यदि आप समय का सही महत्व समझ पाएंगे तो ही समय की गति के साथ खुद को खड़ा पाएंगे. अन्यथा समय कब आप को पीछे छोड़कर आगे निकल जाएगा इस बात का अंदाजा आपको जब होगा तब आपके पास पश्चाताप करने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचेगा. इसलिए यदि आप एक सफल इंसान बनना चाहते हैं तो समय के महत्व को समझते हुए कार्य करें और समय को कभी भी अनदेखा ना करें.

उम्मीद है हमारी यह पोस्ट पढ़ने के बाद आप समय के महत्व को समझ गए होंगे. समय का किस तरह से सदुपयोग आप कर सकते हैं अपने जीवन के बारे में हमसे ज्यादा बेहतर आप जानते होंगे.

अन्य पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *