मल्लिकार्जुन खड़गे कौन है बायोग्राफ़ी (संपत्ति, आयु) Mallikarjun Kharge Biography in Hindi

मलिका अर्जुन खड़गे का जीवन परिचय (जीवनी, जन्मतारिक, जन्मस्थान, राजनीतिक पार्टी, शिक्षा, प्रोफेशन, माता-पिता, पत्नी, बच्चे, धर्म, जाति, बेटी, लंबाई, वजन, परिवार, करियर, राजनीतिक करियर, कांग्रेस अध्यक्ष, पद, उपलब्धियां, ताजा खबर, संपत्ति) उम्र) Mallikarjun Kharge Biography in Hindi  (date of birth, birth place, political party, education, profession, father, mother, wife, children, religion, caste, height, weight, family, political career, achievements, Congress President, property, latest news, net worth)

80 साल के मल्लिकार्जुन खड़गे ने कांग्रेस पार्टी के नए अध्यक्ष के लिए अपना नामांकन भर दिया है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी के ही नेता शशि थरूर ने भी अध्यक्ष के लिए अपना नामांकन भर दिया है और इस प्रकार से इन दोनों व्यक्ति के नाम आजकल काफी चर्चा में है।

Mallikarjun Khadge

ऐसे में यह देखना काफी महत्वपूर्ण होगा कि आखिर कांग्रेस पार्टी का नया अध्यक्ष कौन बनता है और क्या इनमें से कोई भी व्यक्ति अपने नामांकन को वापस लेता है या नहीं। आइए इस आर्टिकल में “मल्लिकार्जुन खड़गे की जीवनी” के बारे में जानते हैं साथ ही “मल्लिकार्जुन खड़गे की बायोग्राफी” पढते हैं।

मल्लिकार्जुन खड़गे का व्यक्तिगत जीवन परिचय Mallikarjun Kharge Biography in Hindi

पूरा नाम [Name]

मल्लिकार्जुन खड़गे

जन्म तिथि [Date of birth]

21 जुलाई 1942

जन्म स्थान [Birth Place]

वार वाटी, कर्नाटक, भारत

पार्टी [Party]

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस

पढ़ाई [Education]

ग्रेजुएट

प्रोफेशन ​[Profession]

पॉलिटिशन और वकील

पिता [Father]

श्री मेपन्ना

माता [Mother]

श्रीमती साईं बावा

पत्नी [Wife]

श्रीमती राधाबाई

संतान [Children]

तीन लड़के, दो लड़कियां

धर्म [Religion]

हिंदू

जाति [Caste]

दलित

विचारधारा

बौद्ध

बेटी [Daughter]

प्रियदर्शनी खड़गे

आंखों का रंग

काला

बालों का रंग

सफेद

लंबाई [Height]

5 फुट 7 इंच

वजन [Weight]

71 किलो

मल्लिकार्जुन खड़गे का प्रारंभिक जीवन

कांग्रेस पार्टी के प्रसिद्ध नेता और कर्नाटक के कद्दावर नेता मल्लिकार्जुन खड़गे का जन्म सन 1942 में 21 जुलाई के दिन ब्रिटिश भारत के हैदराबाद प्रांत में आने वाले वार वाटी नाम के इलाके में हुआ था। वर्तमान में इनकी उम्र 80 साल के आसपास में है।

यह लंबे समय से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस जिसे इंडियन नेशनल कांग्रेस भी कहां जाता है, पार्टी के साथ जुड़े हुए हैं। इनका विवाह राधा बाई के नाम की महिला के साथ हुआ था। साल 2006 में मल्लिकार्जुन ने कहा था कि वह बुद्ध मजहब को मानते हैं और बुद्ध मजहब की विचारधारा को फॉलो कर रहे हैं।

इन्हें इंडियन गवर्नमेंट की 15वीं लोकसभा के मंत्रिमंडल में श्रम और रोजगार में मंत्री का पद प्रदान किया गया था। यह मनमोहन सिंह के कार्यकाल के दरमियान भी मिनिस्टर के पद पर रह चुके हैं साथ ही कर्नाटक के गुलबर्गा सीट से सांसद भी रह चुके हैं।

मल्लिकार्जुन खड़गे की शिक्षा [Mallikarjun Kharge Education]

जब यह थोड़े समझदार हुए तब इनके अभिभावकों के द्वारा शिक्षा दिलाने के उद्देश्य से इनका एडमिशन कर्नाटक के गुलबर्गा इलाके में मौजूद एक विद्यालय में करवाया गया जिसका नाम न्यूटन विद्यालय था। न्यूटन विद्यालय से इन्होंने अपनी प्रारंभिक स्कूली शिक्षा को पूरा किया।

स्कूली शिक्षा पूरी करने के पश्चात इन्होंने ग्रेजुएशन करने के लिए सेठ शंकरलाल लॉ कॉलेज में एडमिशन लिया, जो कि गुलबर्गा में ही मौजूद था।

इस कॉलेज में इन्होंने कानून की डिग्री की पढ़ाई के लिए एडमिशन लिया था और इस प्रकार से यहां से इन्होंने कानून की डिग्री को प्राप्त करके ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की। इस प्रकार से मल्लिकार्जुन खड़गे कानून की भी अच्छी जानकारी रखते हैं।

मल्लिकार्जुन खड़गे  का परिवार [Mallikarjuna Kharge Family]

इनकी माता जी का नाम साईंबावा खरगे है और इनके पिताजी का नाम मपन्ना खरगे हैं। इनका विवाह राधा बाई खड़के नाम की महिला के साथ हुआ था जिससे इन्हें 3 लड़के और 2 लड़की पैदा हुई। इनके लड़के का नाम प्रियंक मल्लिकार्जुन खड़गे है। इनकी बेटी का नाम प्रियदर्शनी खड़गे हैं।

मल्लिकार्जुन खड़गे का कैरियर [

Mallikarjun Kharge Career]

मल्लिकार्जुन खड़गेजी के द्वारा अपने पोलिटिकल कैरियर की शुरूआत एक विद्यार्थी संघ के नेता के तौर पर की गई थी। अपनी पढ़ाई के दरमियान कॉलेज में एक छात्र संघ के महासचिव के पद पर इन्हें चुना गया था।

मल्लिकार्जुन खड़गे जी को एमएसके मिल्स कर्मचारी संघ का कानूनी सलाहकार साल 1969 में बनाया गया था और साल 1969 में ही इन्होंने कांग्रेस में एंट्री ले ली और कांग्रेस पार्टी ने इनके अच्छे व्यक्तित्व को देखते हुए इन्हें कर्नाटक के गुलबर्गा सिटी से कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष के तौर पर मनोनीत किया। इसके बाद यह कांग्रेस पार्टी में अपनी सेवा देने लगे।

इन्हें कंबाइंड लेबर संघ के प्रभावशाली मजदूर नेता के तौर पर भी काफी अधिक प्रसिद्धि मिली। इनके साथ लाखों मजदूर जुड़े हुए थे।
साल 1972 में वह मौका आया जब इन्होंने कर्नाटक राज्य विधानसभा के चुनाव का इलेक्शन लड़ा और कमाल की बात यह थी कि इन्होंने इस चुनाव में विजय हासिल की। इन्होंने यह चुनाव गुरमीत कल निर्वाचन क्षेत्र से लड़ा था।
साल 1978 में फिर से गुरमीत कल निर्वाचन क्षेत्र विधानसभा से इन्होंने चुनाव लड़ा और एक बार फिर से इन्हें जनता का भारी प्यार मिला और इन्होंने चुनाव में विजय प्राप्त की।
मल्लिकार्जुन खड़गे जी को ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज राज्य मंत्री बनाया गया था। यह पद इन्हें देवराज उर्स मंत्रालय में हासिल हुआ था। इस प्रकार से अपने जीवन काल के दरबार इन्होंने विभिन्न महत्वपूर्ण पदों पर विराजमान होने में सफलता हासिल की। और कई महत्वपूर्ण सरकारी पद संभाले।
इनकी गिनती सोनिया गांधी के चहेते नेताओं में होती है और यह सोनिया गांधी/ राहुल गांधी के काफी करीबी भी हैं।
मल्लिकार्जुन खड़गे  जी को साल 2005 में कांग्रेस वर्किंग कमेटी के द्वारा कर्नाटक राज्य के कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया
साल 2014 में हुए आम चुनाव में मल्लिकार्जुन खड़गेजी ने गुलबर्गा संसदीय सीट से इलेक्शन लड़ा और इन्होंने इस इलेक्शन में विजय भी हासिल की।
राज्यसभा के लिए खड़के जी का सिलेक्शन साल 2020 में कर्नाटक राज्य से हुआ।
साल 2021 में राज्यसभा के नेता प्रतिपक्ष के तौर पर इन्हें नियुक्त किया गया।

मल्लिकार्जुन खड़गे बन सकते हैं कांग्रेस अध्यक्ष 

कांग्रेस पार्टी के नए अध्यक्ष के तौर पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने अपना दावा ठोक दिया है, जिनकी सीधी टक्कर कांग्रेस पार्टी के ही एक अन्य नेता शशि थरूर के साथ है। शशि थरूर ने भी कहा है कि वह कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष बनना चाहते हैं।

मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर में देखा जाए तो मल्लिकार्जुन खड़गे को ज्यादा समर्थन मिलता दिखाई दे रहा है, वही शशि थरूर को कम समर्थन मिल रहा है। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि मल्लिकार्जुन खड़गेकांग्रेस पार्टी के अगले अध्यक्ष हो सकते हैं।

इन दोनों के लोगों के द्वारा अपना नामांकन भर दिया गया है। अगर इन दोनों ही नेताओं में से कोई भी व्यक्ति अपने नामांकन को वापस नहीं लेता है तो 17अक्टूबर को वोटिंग होगी।

इस वोटिंग में 900 से ज्यादा डेलीगेट वोट करेंगे और वोट की काउंटिंग 19अक्टूबर को होगी, जिसके बाद यह पता चल जाएगा कि कांग्रेस पार्टी का नया अध्यक्ष कौन होगा।

मल्लिकार्जुन खड़गे द्वारा संभाले गए पद

अपने जीवन काल और अपने कैरियर के दरमियान इन्होंने कई महत्वपूर्ण पदों पर विराजमान होने में सफलता हासिल की, जिनमें से कुछ महत्वपूर्ण पद निम्नानुसार है।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता, लोकसभा
लोक लेखा समिति के अध्यक्ष
रेल मंत्री
श्रम और रोजगार मंत्री
कर्नाटक विधानसभा में विपक्ष के नेता
संसद सदस्य, राज्य सभा
कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष
गृह मंत्रालय, कर्नाटक सरकार
ग्रामीण विकास मंत्री, कर्नाटक सरकार

मल्लिकार्जुन खड़गे जी की उपलब्धियां [Mallikarjun Kharge Achivements]

यह सिद्धार्थ विहार ट्रस्ट के संस्थापक अध्यक्ष के तौर पर काम करते हैं। इसी ट्रस्ट के द्वारा कर्नाटक राज्य के गुलबर्गा में बुध विहार का निर्माण करवाया गया है। इसके अलावा यह चौधिया मेमोरियल हॉल के संरक्षक भी है। चौधिया मेमोरियल हॉल कर्नाटक के बेंगलुरु शहर में मौजूद मुख्य म्यूजिक कार्यक्रम और आयोजन के स्थानों में से एक है।

इन्होंने साल 1974 से लेकर के साल 1996 तक सिद्धार्थ एजुकेशन सोसायटी और तुमकर के अध्यक्ष के पद को भी संभाला है, साथ ही इनके द्वारा कर्नाटक राज्य में मेडिकल और टेक्निकल इंस्टिट्यूट के उद्घाटन में भी काफी सहायता दी जाती है।

मल्लिकार्जुन खड़गे के शौक

इन्होंने विभिन्न प्रकार के शौक भी पाले हुए हैं। अपने खाली समय में यह विभिन्न सब्जेक्ट के ऊपर आधारित किताबें पढ़ने का शौक रखते हैं। इसके अलावा यह एनालिसिस करने वाली विचारधारा रखते हैं साथ ही यह अंधविश्वास और बेमतलब की प्रथाओं के खिलाफ भी लगातार विरोध की अवस्था में रहते हैं।

इन्हें क्रिकेट, हॉकी और कबड्डी जैसे खेल काफी अच्छे लगते हैं। हालांकि अब वृद्ध हो जाने की वजह से यह क्रिकेट, होकी और कबड्डी जैसे खेल से थोड़ी दूरी बना करके रखते हैं परंतु अपने जवानी के दिनों में यह इन खेलों को बड़े ही चाव के साथ खेलते थे।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा मोदी लगा लेंगे फांसी

प्रधानमंत्री मोदी जी को ले करके मल्लिकार्जुन खड़गे जी ने एक बार अशोभनीय बयान दिया था। अपने बयान में उन्होंने एक रैली के दरमियान कहा था कि पीएम मोदी जी जहां कहीं भी रैली करने के लिए जाते हैं वहां पर अपने भाषण में कहते हैं कि कांग्रेस लोकसभा के इलेक्शन में 40 सीट भी नहीं जीत पाएगी।

क्या कोई इस बात पर यकीन करेगा। अगर कांग्रेस पार्टी को लोकसभा के इलेक्शन में 40 सीट मिल जाती है तो क्या दिल्ली के विजय चौक पर जाकर के पीएम मोदी फांसी लगा लेंगे। हालांकि लोकसभा के इलेक्शन में कांग्रेस को टोटल 44 सीट प्राप्त हुई थी।

जब मल्लिकार्जुन खड़गे से ईडी ने की पूछताछ

संसद के मानसून सत्र के दरमियान हीं चल रही कार्रवाई के बीच में प्रवर्तन निदेशालय के द्वारा मल्लिकार्जुन खड़गे के खिलाफ समन जारी करने का काम किया गया था और ईडी ने मल्लिकार्जुन खड़गे से तकरीबन 8 घंटे पूछताछ भी की थी।

इस पर कांग्रेस के ही सांसद जयराम रमेश ने कहा कि मोदी सरकार शुद्ध उत्पीड़न कर रही है और वह कांग्रेस वर्करों को और नेताओं को परेशान करने का काम बदले की कार्यवाही के द्वारा कर रही है।

मल्लिकार्जुन खड़गे की कुल संपत्ति [Property]

मल्लिकार्जुन खड़गे की टोटल संपत्ति मिलाकर के इनके पास तकरीबन ₹100000000 की प्रॉपर्टी है। इसमें इनके सभी घर, सभी जमीने और अन्य चीजों की कीमत शामिल है। इनकी अधिकतर कमाई गवर्नमेंट के द्वारा दी जाने वाली तनख्वाह से ही होती है, क्योंकि यह कई महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं। इसलिए इनके पास इतनी संपत्ति होना लाजमी है।

मल्लिकार्जुन खड़गे को प्राप्त सुविधाएं

अपने कार्यकाल के दरमियान यह विभिन्न  महत्वपूर्ण सरकारी पदों पर रह चुके हैं, साथ ही विभिन्न मंत्रियों के पद को भी संभाल चुके हैं। इसलिए सरकार के द्वारा इन्हें कड़ी सुरक्षा व्यवस्था दी जाती है। इनकी सुरक्षा के लिए हरदम इनके साथ कमांडो अथवा पुलिस के जवान रहते हैं।

इसके अलावा इन्हें खाना बनाने के लिए बावर्ची भी सरकार के द्वारा दिया गया है, जो कि बिल्कुल मुफ्त में काम करता है साथ ही आवागमन के लिए इन्हें सरकार के द्वारा फ्री वाहन सुविधा भी दी गई है।

इसके अलावा घर का काम करने के लिए इन्हें नौकर दिया गया है साथ ही रहने के लिए इन्हें सरकारी आवास भी प्राप्त होता है। इसके अलावा इन्हें टोल टैक्स माफ होता है साथ ही रेलवे और हवाई जहाज के टिकट की बुकिंग पर भी इन्हें छूट मिलती है। इसके अलावा सरकार के द्वारा इन्हें पेंशन भी दी जा रही है।

FAQ  

Q- मल्लिकार्जुन खड़गे कौन है?

ANS   राज्यसभा के अपोजिशन के लीडर

Q- मल्लिकार्जुन खड़गे की जाति क्या है?

ANS   हिंदू, दलित

Q – मल्लिकार्जुन खड़गे की वर्तमान उम्र कितनी है?

ANS- 80 साल

Q – ल्लिकार्जुन खड़गे की कितनी संतान है?

ANS- तीन लड़के, दो लड़कियां

Q- मल्लिकार्जुन खड़गे कौन सी पार्टी से संबंधित है?

ANS- इंडियन नेशनल कांग्रेस

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top