मारबर्ग वायरस 2022 (Marburg Virus) Symptoms, Treatment, Cases, death

मारबर्ग वायरस  (मारबर्ग वायरस क्या है, कैसे फैलता है, लक्षण, टेस्ट, इलाज, बचाओ कैसे करें,  केस) Marburg Virus in hindi (treatment, cases, symptoms)

कोरोना महामारी के कारण हर किसी को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था। जिसका असर आज भी लोगों के बीच देखने को मिल रहा है। लेकिन इस बार कोरोना किसी को नहीं डरा रहा बल्कि एक ऐसा वायरस आया है जिसने लोगों के बीच खौफ पैदा कर दिया है। इस वायरस का नाम है मारबर्ग वायरस। इसकी ना ही कोई वैक्सीन है और ना ही इलाज के बारे में कुछ पता है। ऐसे में इस वायरस को लेकर डब्ल्यूएचओ काफी चिंता में दिखाई दे रहा है। डब्लयूएचओ का कहना है कि, इसके सबसे पहले मामले घाना में देखने को मिले हैं। उनका कहना है कि, ये बीमारी कोरोना और इबोला से काफी खतरनाक है। जो चमगादड़ो के कारण हो रही है।Marburg Virus

मारबर्ग वायरस 2022 (Marburg Virus)

हानिकारक और घातक है मारबर्ग वायरस

मारबर्ग वायरस काफी हानिकारक और घातक है। जिसपर डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि, घाना से पहले ये अंगोला, कांगो, केन्या, दक्षिण अफ्रीका और युगांडा में पाया गया है। जिसको लेकर काफी क्वारंटीन कर दिया गया है। वहीं जिन लोगों की हालत गंभीर है उन्हें अस्पताल भेज दिया गया है।

मारबर्ग वायरस (Marburg Virus) से इतने लोग पाए गए संक्रमित

आपको बता दें कि, जो रिपोर्ट सामने आई है उसके मुताबिक 98 लोग अभी तक संक्रमित पाए गए हैं। जिसको ध्यान में रखते हुए घाना के स्वास्थ्य विभाग ने कुछ सख्ती कर दी है। ताकि इस संक्रमण को एक जगह ही रोक दिया जाए। उनका कहना है कि, जितना हो सके हम इसे रोकने पर काम कर रहे हैं ताकि इस संख्या को रोका जा सके।

मारबर्ग वायरस (Marburg Virus) में पाए जाने वाले लक्षण

• इस वायरस का इंफेक्शन 2 से 21 दिनों तक रहता है। जिसके कारण वायरस समय-समय पर