राष्ट्रीय युवा दिवस 2023, निबंध, महत्व (National Youth Day in Hindi)

राष्ट्रीय युवा दिवस 2023, निबंध, महत्व, नेशनल यूथ डे, कब मनाते हैं, थीम, भाषण, कविता (National Youth Day in Hindi) (Theme, Quotes, Celebration, India)

नेशनल यूथ डे हर साल 12 जनवरी के दिन देशभर में सेलिब्रेट किया जाता है। यह दिन स्वामी विवेकानंद से कहीं ना कहीं जुड़ा हुआ है, अब सवाल यह है कि आखिर स्वामी विवेकानंद का युवाओं से क्या संबंध है जिसकी वजह से उनके जन्मदिन को युवा दिवस के तौर पर सेलिब्रेट किया जाता है। इसके अलावा विवेकानंद जयंती को कब से राष्ट्रीय युवा दिवस के तौर पर मनाना शुरू किया गया और स्वामी विवेकानंद कौन थे और देश की उन्नति में उनके द्वारा कौन से योगदान दिए गए थे। अगर आप भी इन सभी सवालों के जवाब जानना चाहते हैं? तो आप बिल्कुल सही जगह पर आ पहुंचे हैं, क्योंकि आज हम इस पेज पर जानेंगे कि आखिर नेशनल यूथ डे यानि राष्ट्रीय युवा दिवस क्या है और नेशनल यूथ डे क्यों मनाया जाता है और स्वामी विवेकानंद का नेशनल यूथ डे से क्या संबंध है.

national youth day

राष्ट्रीय युवा दिवस 2023 (National Youth Day)

पर्व का नामराष्ट्रीय युवा दिवस
देशभारत
पर्व का प्रकारराष्ट्रीय
उद्देश्ययुवाओं को जागरूक करना
प्रसिद्धी का कारणस्वामी विवेकानन्द जी द्वारा युवाओं के लिए किया गया सहयोग
दिवस12 जनवरी

राष्ट्रीय युवा दिवस क्या है (What is National Youth Day)

भारत देश में हर साल राष्ट्रीय युवा दिवस अर्थात नेशनल यूथ डे को 12 जनवरी के दिन देशभर में सेलिब्रेट किया जाता है। इस दिन को खासतौर पर ऐसे युवाओं और नौजवानों को समर्पित किया गया है जो देश के भविष्य को बेहतर बनाने की क्षमता रखते हैं। भारतीय युवाओं के द्वारा 12 जनवरी के दिन को युवा दिन के तौर पर मनाने की एक खास वजह होती है क्योंकि इसी दिन देश में स्वामी विवेकानंद जैसे महान पुरुष का जन्म हुआ था और इसलिए हर साल स्वामी विवेकानंद जयंती को देश के युवा वर्ग के नाम पर समर्पित करते हुए राष्ट्रीय युवा दिवस को मनाया जाता है। भारतीय गवर्नमेंट के द्वारा साल 1984 में इस दिन को नेशनल यूथ डे के तहत घोषित किया गया और फिर साल 1985 से यह हर साल देशभर में मनाया जाने लगा। नेशनल यूथ डे को हिंदी भाषा में राष्ट्रीय युवा दिवस कहा जाता है। हर साल इस दिन को स्वामी विवेकानंद जी के जन्मदिन के उपलक्ष में मनाया जाता है। साल 2023 में नेशनल यूथ डे 12 जनवरी, दिन गुरुवार को पड़ रहा है।

राष्ट्रीय युवा दिवस का इतिहास (National Youth Day History)

भारतीय गवर्नमेंट के द्वारा साल 1984 में पहली बार देश में विवेकानंद जयंती अर्थात 12 जनवरी के मौके पर राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया गया था और इसे आगे से राष्ट्रीय युवा दिवस के तौर पर मनाने की घोषणा की गई थी और उसके पश्चात साल 1985 के बाद से हर साल देशभर में 12 जनवरी को राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है, क्योंकि इसी दिन स्वामी विवेकानंद जी का जन्म देश में हुआ था।

राष्ट्रीय युवा दिवस का उद्देश्य (National Youth Day Objective)

भारत देश में राष्ट्रीय युवा दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य हमारे देश के युवाओं को राष्ट्र निर्माण की दिशा में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करना है और उनके अंदर एकता की भावना पैदा करना साथ ही उन्हें हमेशा सक्रिय रहने की प्रेरणा देना। राष्ट्रीय युवा दिवस के मौके पर देश भर के हर जिले से किसी ना किसी युवा को कार्यक्रम में शामिल करने के लिए संबंधित संस्था के द्वारा बुलाया जाता है। इसके अलावा लोकल और इंटरनेशनल लेवल पर विचारों का आदान-प्रदान भी किया जाता है।

राष्ट्रीय युवा दिवस का महत्व (National Youth Day)

स्वामी विवेकानंद जी को वास्तव में आधुनिक इंसानों के आदर्श का प्रतिनिधि माना जाता है। खासतौर पर भारत देश में रहने वाले युवाओं के लिए स्वामी विवेकानंद से बढ़कर के आदर्श व्यक्ति अन्य कोई हो ही नहीं सकता है। विवेकानंद जी के द्वारा अपने जीवित रहते हुए भारतीय युवाओं को कुछ ऐसी विचारधारा प्रदान की गई जिसका अभिमान आज भी भारतीय युवा करते हैं और उसका बखान करते नहीं थकते हैं। स्वामी जी के द्वारा जो कुछ भी बातें कही गई थी वह युवाओं के लिए हितकर साबित हुई है, तभी तो आज भी स्वामी जी के द्वारा कही‌ गई बातों से युवा उत्साहित होते हैं और उनसे प्रेरणा लेते हैं। स्वामी जी ने कहीं ना कहीं प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष तौर पर वर्तमान भारत को प्रभावित करने का काम किया है। हमारे देश की युवा पीढ़ी विवेकानंद जी के ज्ञान, प्रेरणा और उनके तेज के स्त्रोत से आज भी लाभ उठा रही है।

राष्ट्रीय युवा दिवस क्यों मनाया जाता है (Why National Youth Day is Celebrated)

विवेकानंद स्वामी जी को ऑलराउंडर भी कहते हैं, क्योंकि इन्हें सामाजिक, इतिहास, कला, धर्म, दर्शन, विज्ञान और साहित्य की बहुत ही अच्छी जानकारी थी और यह इन सभी चीजों के बारे में काफी गहराई से जानते थे। इनके ज्ञान की गहराई बहुत ही अनंत थी, जिसे पता लगा पाना बहुत ही मुश्किल था। स्वामी विवेकानंद जी पढ़ाई में तो बेहतरीन थे ही, इसके अलावा इन्हें भारतीय शास्त्रीय संगीत की भी काफी अच्छी जानकारी थी। इसके अलावा वह एक अच्छे खिलाड़ी भी थे। विवेकानंद जी के द्वारा विभिन्न अवसर पर अपने अनमोल विचार और प्रेरणादायक वचन युवाओं के सामने व्यक्त किए गए हैं, जिनसे युवा आज भी प्रेरणा लेते हैं। यही वजह है कि हर साल जब स्वामी विवेकानंद की जयंती आती है तो उसे नेशनल यूथ डे अर्थात राष्ट्रीय युवा दिवस के तौर पर सेलिब्रेट किया जाता है। इस दिन से खास लगाव भारत का युवा वर्ग करता है।

स्वामी विवेकानंद कौन हैं (Who is Swami Vivekananda)

साल 1863 में भारत देश के पश्चिम बंगाल राज्य के कोलकाता नाम के शहर में स्वामी विवेकानंद जी का जन्म हुआ था। इनके माता पिता जी के द्वारा इनका नाम नरेंद्रनाथ दत्त रखा गया था। हालांकि दुनिया भर में आगे चलकर के यह स्वामी विवेकानंद जी के नाम से ही प्रसिद्ध हुए। इनके तन‌ पर हमेशा भगवा रंग के कपड़े रहते थे और यह हिंदुत्व के प्रबल समर्थक थे। स्वामी विवेकानंद जी को वेदांत की काफी अच्छी जानकारी थी और यह बहुत ही तगड़ा प्रभाव रखने वाले आध्यात्मिक गुरु भी थे। बचपन में ही इन्हें अध्यात्म में रूचि हो गई थी। यह पढ़ाई करने में भी काफी अच्छे थे, परंतु 25 साल की उम्र आते-आते इन्होंने अपने गुरु से प्रभावित होकर के सांसारिक मोहमाया को छोड़ दिया और इन्होंने सन्यासी का पद ग्रहण कर लिया। ‌इसके पश्चात इन्हें विवेकानंद के नाम से जाना जाने लगा।

एक अन्य महान व्यक्ति रामकृष्ण परमहंस से इनकी मुलाकात साल 1881 में हुई। जिनसे मिली शिक्षा से प्रभावित होकर उन्होंने उन्हें अपना गुरु मान लिया। विवेकानंद जी के द्वारा कोलकाता में रामकृष्ण मिशन की स्थापना 1897 में की गई थी।‌ इसके अलावा इन्होंने 1898 में गंगा नदी के किनारे पर बेलूर नाम के इलाके में रामकृष्ण मठ की भी स्थापना की थी। बता दें 11 सितंबर, 1893 में अमेरिका में एक धर्म संसद का आयोजन, इसमें विवेकानंद जी भी शामिल हुए थे। उन्होंने यहां पर हिंदी भाषा में जब “अमेरिका के भाइयों और बहनों” कहा तो तकरीबन 2 मिनट तक उनके भाषण पर तालियां बजती रहे, जो भारतीय लोगों के लिए एक गर्व की बात थी।

राष्ट्रीय युवा दिवस कब मनाया जाता है (When National Youth Day is Celebrated)

हमारे देश में हर साल जनवरी के महीने में 12 तारीख को राष्ट्रीय युवा दिवस अर्थात नेशनल यूथ डे मनाया जाता है, क्योंकि इसी दिन स्वामी विवेकानंद जी का जन्म हमारे भारत देश में पश्चिम बंगाल राज्य के कोलकाता नाम के शहर में हुआ था। साल 2023 में भी राष्ट्रीय युवा दिवस भारत मे मनाया जाएगा। साल 2023 में देश में राष्ट्रीय युवा दिवस 12 जनवरी के दिन आ रहा है, जिस दिन गुरुवार है। इस दिन देशभर में स्वामी विवेकानंद जी से संबंधित कई कार्यक्रमों का आयोजन अलग-अलग स्कूल, कॉलेज और संस्थानों में किया जाएगा।

राष्ट्रीय युवा दिवस की शुरुआत कब और कैसे हुई (National Youth Day Start)

स्वामी विवेकानंद जी के जन्मदिन अर्थात 12 जनवरी के दिन को भारत के युवाओं को समर्पित करने की शुरुआत साल 1984 में ही हो गई थी। साल 1984 में एक कार्यक्रम के दरमियान इंडियन गवर्नमेंट के द्वारा यह घोषणा की गई थी कि स्वामी विवेकानंद जी के द्वारा जो भी बातें कही गई थी वह भारतीय युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत साबित हो रही है। इसीलिए हमें स्वामी विवेकानंद जी के विचारों को युवाओं तक और भी बेहतरीन ढंग से पहुंचाने के लिए विवेकानंद जी के जन्मदिन को राष्ट्रीय युवा दिवस अर्थात नेशनल यूथ डे के तौर पर मनाना चाहिए। और इस प्रकार से साल 1985 से लेकर के लगातार स्वामी विवेकानंद जी के जन्मदिन को राष्ट्रीय युवा दिवस के तौर पर मनाया जा रहा है।

राष्ट्रीय युवा दिवस कैसे मनाया जाता है (National Youth Day Celebration)

नेशनल यूथ डे अर्थात स्वामी विवेकानंद जी के जन्म दिवस के मौके पर देशभर के अलग-अलग स्कूल और कॉलेज में खास प्रकार के इंतजाम किए जाते हैं और इस मौके पर बच्चों के सामने स्वामी विवेकानंद जी के जीवन चरित्र के बारे में चर्चा की जाती है। इसके साथ ही साथ रामकृष्ण मिशन के सेंटर पर भी इस मौके पर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम का आयोजन होता है। जिसमें मुख्य तौर पर विवेकानंद जी पर फोकस किया जाता है, साथ ही खेल मंत्रालय के द्वारा भी इस मौके पर युवाओं के लिए विभिन्न प्रकार के आयोजन किए जाते हैं, साथ ही युवाओं से संबंधित कई योजनाओं को भी लांच किया जाता है। विद्यालय में इस मौके पर निबंध प्रतियोगिता का आयोजन करवाया जाता है।

राष्ट्रीय युवा दिवस 2023 की थीम (National Youth Day 2023 Theme)

भारतीय गवर्नमेंट के द्वारा राष्ट्रीय युवा दिवस के मौके पर हर साल एक नई थीम का सिलेक्शन किया जाता है। थीम का सिलेक्शन देश के प्रासंगिक और समकालीन परिदृश्य के अंतर्गत किया जाता है। साल 2023 में राष्ट्रीय युवा दिवस के मौके पर जो थीम रखी गई है वह ‘इट्स ऑल इन द माइंड’ है।

होमपेजयहां क्लिक करें

FAQ

Q : किस महापुरुष की जयन्ती को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है? Ans : स्वामी विवेकानंद

Q : राष्ट्रीय युवा दिवस कब मनाया जाता है? Ans : 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद जी की जयंती के दिन।

Q : राष्ट्रीय युवा दिवस क्यों मनाया जाता है? Ans : स्वामी विवेकानंद जी के विचारों के बारे में अधिक से अधिक लोग परिचित हो।

Q : भारत में राष्ट्रीय युवा दिवस कैसे मनाया जाता है? Ans : इस दिन कॉलेज, इंस्टिट्यूट, विद्यालय और अलग-अलग संस्थानों में विवेकानंद जी के ऊपर आधारित अलग-अलग कार्यक्रम होते हैं।

Q : राष्ट्रीय युवा दिवस साल 2023 की थीम क्या है? Ans : ‘इट्स ऑल इन द माइंड’

अन्य पढ़ें –

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top