नेताजी सुभाषचंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण (Hologram Statue of Netaji Subhash Chandra Bose Unveiled)

तथ्य,प्रतिमा से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बिंदु,सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार (Highlights, Important Points on Statue, Subhash Chandra Bose Aapda Prabandhan Puraskar)

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वी जयंती पर केंद्र सरकार की ओर से नेताजी की होलोग्राम मूर्ति का अनावरण किया गया है। प्रधानमंत्री द्वारा देश की जनता की तरफ से नेताजी सुभाष चंद्र बोस को उनके अतुलनीय बलिदान और शौर्य के लिए नमन किया गया। नेताजी की होलोग्राम मूर्ति का अनावरण इंडिया गेट पर किया गया। इसके साथ ही साल 2019, 2020, 2021और 2022 से संबंधित सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार भी दिए गए।तो आइए, इस आर्टिकल के माध्यम से नेताजी की होलोग्राम प्रतिमा और इससे जुड़े समारोह के बारे में विस्तार से जानते हैं।

नेताजी सुभाषचंद्र बोस की प्रतिमा से जुड़े तथ्य (Highlights from the statue of Netaji Subhash Chandra Bose)

 

होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण 23 जनवरी, 2022
होलोग्राम प्रतिमा की जगह इंडिया गेट स्थित
मूल प्रतिमा की ऊंचाई  28 फीट ऊंची बनेगी
मूल प्रतिमा के निर्माण के पत्थर काले ग्रेनाइट 
मूल प्रतिमा निर्माण की टीम नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट के डायरेक्टर जनरल, दिल्ली अद्वैत गड़नायक की अध्यक्षता में आर्टिस्ट की एक टीम

 

नेताजी सुभाषचंद्र बोस की प्रतिमा से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बिंदु (Important Points on Netaji Subhash Chandra Bose Statue)

प्रधानमंत्री द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वी जयंती पर उनकी होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किया गया। इंडिया गेट पर स्थित उसी कैनोपी पर इस होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किया गया जहां कभी किंग जॉर्ज पंचम की मूर्ति स्थित थी। इससे पहले यहां अमर जवान ज्योति का वॉर मेमोरियल में स्थित ज्योति के साथ विलय कर दिया गया था। 

नेताजी की वास्तविक मूर्ति का निर्माण काले ग्रेनाइट से किया जाएगा। ये प्रतिमा 28 फीट ऊंची बनेगी। मूर्ति को बनाने के लिए पत्थर तेलंगाना के खम्मम जिले से लिया गया है।

नेशनल गैलरी ऑफ मॉडर्न आर्ट के डायरेक्टर जनरल, दिल्ली अद्वैत गड़नायक की अध्यक्षता में आर्टिस्ट की एक टीम तैयार की गई है जो इस प्रतिमा के निर्माण का काम देखेगी।जब तक ये प्रतिमा पूर्ण नहीं हो जाती, तब तक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा को सूर्यास्त के बाद ऑन कर दिया जाएगा।

सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार (Subhash Chandra Bose Aapda Prabandhan Puraskar)

हर वर्ष 23 जनवरी को नेताजी की जयंती पर सुभाष चंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार को घोषित किया जाता है। इस पुरस्कार के अंतर्गत संस्था को 51 लाख रुपए का नगद दिया जाता है। इस पुरस्कार के तहत किसी व्यक्ति को पांच लाख रुपए का इनाम और प्रमाण पत्र मिलता है। साल 2022 में गुजरात आपदा प्रबंधन संस्थान एवं व्यक्तिगत श्रेणी में प्रोफेसर विनोद शर्मा को पुरस्कार दिया जाएगा। प्रधानमंत्री ने नेताजी की होलोग्राम मूर्ति का अनावरण करने के अलावा आपदा प्रबंधन के महत्व से जुड़े मुद्दों पर भी कई वक्तव्य दिए।

FAQs

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण कहां हुआ?

नेताजी की होलोग्राम मूर्ति का अनावरण इंडिया गेट पर किया गया।

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण किसने किया?

प्रधानमंत्री ने।

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण कब हुआ?

तेईस जनवरी ( नेताजी की 125वी जयंती पर)।

क्या नेताजी की मूल प्रतिमा बन चुकी है?

नहीं, निर्माणाधीन है।

अन्य पढ़ें-

  1. आईएनएस विशाखापत्तनम
  2. डीजीपी कांफ्रेंस
  3. संसद चलो
  4. कृषि कानून वापसी की घोषणा

Leave a Reply

Your email address will not be published.