(अप्लाई) नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा 2022 (रजिस्ट्रेशन, टोल फ्री नंबर)

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा 2022 (लाभ, लाभार्थी, आवेदन फॉर्म, रजिस्ट्रेशन, अप्लाई, पात्रता, सूची, स्टेटस, दस्तावेज, ऑनलाइन पोर्टल, आधारिक वेबसाइट, टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर, आखरी तारीख ) National Education Policy Haryana  (Benefits, beneficiaries, application form, registration, eligibility criteria, list, status, official website, portal, documents, helpline number, last date, how to apply)

हमारे भारत देश में साल 2020 में नई एजुकेशन पॉलिसी को लागू किया गया था, जब इस शिक्षा नीति को इंडिया में लागू किया गया था तो उसी टाइम देश के सभी राज्यों को 2030 का समय दिया था ताकि वह भी 2030 तक नई एजुकेशन पॉलिसी को लागू कर लें।

हालांकि अन्य राज्यों के मुकाबले में हरियाणा गवर्नमेंट के द्वारा इस दिशा में सकारात्मक पहल चालू की गई है। हरियाणा गवर्नमेंट के द्वारा हरियाणा के स्कूलों में एक नई एजुकेशन पॉलिसी को लागू करने का डिसीजन लिया गया है, जिसे नेशनल एजुकेशन पॉलिसी स्कीम का नाम दिया गया है। इस आर्टिकल में आपको “नेशनल एजुकेशन स्कीम क्या है” इसकी पूरी जानकारी प्राप्त होगी।

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा 2022

योजना: नेशनल एजुकेशन पॉलिसी
राज्य: हरियाणा
घोषणा: मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर
साल: 2022
ऑफिशियल वेबसाइट: N/A
टोल फ्री नंबर:  N/A

स्कूल और कॉलेज में जो शिक्षा नीति होती है, उसे नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के तहत ही बनाया जाता है। इंडियन गवर्नमेंट के द्वारा साल 2020 में नेशनल एजुकेशन पॉलिसी को स्टार्ट किया गया था और इसके अंतर्गत गवर्नमेंट के द्वारा एजुकेशन पॉलिसी में महत्वपूर्ण बदलाव किए गए थे।

गवर्नमेंट के द्वारा जो नई एजुकेशन पॉलिसी बनाई गई है, उसके जरिए गवर्नमेंट का यह प्रयास है कि भारत ज्ञान के मामले में विश्व गुरु बने। हरियाणा गवर्नमेंट के द्वारा इस पॉलिसी के अंतर्गत जिन विद्यार्थियों के परिवार की सालाना इनकम 1,80,000 से कम है, उनकी स्कूल अथवा कॉलेज की फीस भरी जाएगी।

हरियाणा गवर्नमेंट ने भी नेशनल एजुकेशन पॉलिसी को लागू करने की दिशा में अपने कदम आगे बढ़ाते हुए अहम पहल की है और अगर सही प्रकार से काम होता है तो साल 2025 तक हरियाणा के स्कूल/ कॉलेज में नई एजुकेशन पॉलिसी लागू हो जाएगी।

हरियाणा गवर्नमेंट के द्वारा नई एजुकेशन पॉलिसी को लागू करने के लिए एजुकेशन की फील्ड के एक्सपर्ट लोगों की राय सलाह ली जा रही है।

हरियाणा के मुख्यमंत्री के द्वारा केजी से पीजी क्लास तक के लिए एजुकेशन के संसाधन में बदलाव से संबंधित राय एजुकेशन एक्सपर्ट से मांगी गई है।

गवर्नमेंट के द्वारा नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के बारे में चार यूनिवर्सिटी से राय सलाह मांगी गई है, जिनमें महर्षी दयानंद यूनिवर्सिटी, रोहतक, कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी, महिला विश्वविद्यालय, खानपुर जैसी यूनिवर्सिटी शामिल है।

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा उद्देश्य

हरियाणा गवर्नमेंट के द्वारा नेशनल एजुकेशन पॉलिसी की दिशा में अपने कदम आगे बढ़ाने के पीछे मुख्य उद्देश्य यह है कि हरियाणा के स्कूल और कॉलेज में शिक्षा के स्तर को बढ़ाना है। जिससे उसकी गिनती वैश्विक स्तर पर हो सके, और हरियाणा राज्य के विद्यार्थियों को जिंदगी में आगे बढ़ने का मौका मिले।

हरियाणा गवर्नमेंट इस पॉलिसी के अंतर्गत पुरानी एजुकेशन पॉलिसी में कई बदलाव कर चुकी है ताकि एजुकेशन की क्वालिटी को इंप्रूव किया जा सके, जिससे स्कूल और कॉलेज में पढ़ने वाले स्टूडेंट बेहतर एजुकेशन हासिल कर सकें।

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा विशेषताएं

• नई एजुकेशन पॉलिसी में 12 साल की स्कूल की एजुकेशन और 3 साल की प्री स्कूल एजुकेशन होगी।

• छठी क्लास से व्यवसायिक परीक्षण इंटर्नशिप स्टार्ट की जाएगी।

• विद्यार्थियों को पांचवी क्लास तक उनकी मातृभाषा में अथवा क्षेत्रीय भाषा में एजुकेशन दी जाएगी।

• नई एजुकेशन पॉलिसी के अंतर्गत विद्यार्थी अपने पसंदीदा सब्जेक्ट का सिलेक्शन कर सकते हैं

• स्टूडेंट फिजिक्स, सब्जेक्ट के साथ आर्ट्स के सब्जेक्ट या फिर अकाउंट का सब्जेक्ट स्टडी कर सकते हैं।

• विद्यार्थियों को छठी क्लास में कोडिंग सिखाई जाएगी।

• विद्यार्थियों के लिए वर्चुअल लैब को डिवेलप करने का काम होगा।

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा पात्रता

• हरियाणा के विद्यार्थी ही इसके लिए पात्र होंगे।

• हरियाणा के जो विद्यार्थी स्कूल में एजुकेशन हासिल कर रहे हैं, वहीं इसके लिए पात्र होंगे।

• कॉलेज में पढ़ने वाले विद्यार्थी भी इसके लिए पात्र होंगे।

• नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के लिए पात्रता हेतु वही लोग मान्य होंगे जिनके पास जरूरी डॉक्यूमेंट होंगे।

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा दस्तावेज

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी के लिए कौन से डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ेगी, इसके लिए अभी हमें कोई भी इंफॉर्मेशन प्राप्त नहीं हुई है, ना हीं गवर्नमेंट के द्वारा इससे संबंधित कोई नोटिफिकेशन जारी की है।

इसलिए अभी हम आपको यह बता पाने में असमर्थ है कि नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा के लिए कौन से दस्तावेज की जरूरत पड़ेगी। जैसे ही गवर्नमेंट के द्वारा दस्तावेज की इंफॉर्मेशन दी जाती है, वैसे ही आर्टिकल में उस इंफॉर्मेशन को अपडेट कर दिया जाएगा, ताकि आप यह जान सके कि नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा के लिए कौन से दस्तावेज लगेंगे।

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा आवेदन की प्रक्रिया

गवर्नमेंट के द्वारा हाल ही में लॉन्च किए जाने के कारण अभी हम आपको यह भी बता पाने में असमर्थ हैं कि नेशनल एजुकेशन पॉलिसी में कैसे आप आवेदन कर सकते हैं, साथ ही हमें इस बात की भी जानकारी नहीं है कि इसमें ऑफलाइन आवेदन रहेगा या फिर ऑनलाइन आवेदन रहेगा।

इसलिए आपको इसके बारे में जानने के लिए थोड़े दिनों का इंतजार करना पड़ेगा। जैसे ही गवर्नमेंट के द्वारा हमें कोई जानकारी प्राप्त होती है, वैसे ही हम आवेदन से संबंधित जानकारी को इसी आर्टिकल में अपडेट कर देंगे, ताकि आपको आवेदन की प्रोसेस पता चल जाए।

FAQ: 

Q: नेशनल एजुकेशन पॉलिसी कौन से राज्य में चालू की गई है?

ANS: हरियाणा

Q: हरियाणा में नेशनल एजुकेशन पॉलिसी को कब चालू किया गया?

ANS: साल 2022

Q: नेशनल एजुकेशन पॉलिसी हरियाणा में अप्लाई कैसे करें?

ANS: अभी आवेदन की प्रक्रिया जारी नहीं हुई है।

Q: भारतीय गवर्नमेंट के द्वारा नेशनल एजुकेशन पॉलिसी को कब चालू किया गया था?

ANS: साल 2020

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.