यातायात के नियम एवं सिग्नल का अर्थ

यातायात के नियम महत्व, जानकारी, संकेत, सिग्नल अर्थ (Traffic Rules and Regulations, Importance, Information, Signal Symbols, Signs Meaning in Hindi)

नियम और कानून हम सभी के हितों के लिए बनाए जाते हैं और इन सभी कानून कायदों का पालन करना हमेशा हमारा पहला फर्ज होना चाहिए. चाहे हम अपने घर में हो या फिर कहीं बाहर चाहे अपने ऑफिस में ही क्यों ना हो, हमें सभी कानून कायदों का पालन करना होता है. इसी प्रकार जब हम सड़क पर अपनी गाड़ी लेकर बाहर निकलते हैं तो भी हमें सड़क पर चलने और गाड़ी चलाने के लिए कुछ नियम और कानून कायदों को समझना बहुत ही जरूरी होता है. यातायात के नियम का पालन करना हमारे लिए अनिवार्य होता है क्योंकि यह सभी नियम हमारे स्वास्थ्य और सुरक्षित रहने के लिए सरकार द्वारा निर्मित किए जाते हैं.

बहुत बार ऐसा होता है कि हमारे सामने ट्रैफिक सिग्नल दिखाई देते हुए भी हमें पता नहीं होता है कि यह सिगनल किस लिए होता है और हम बाद में चालान कटवा देते हैं. तो ऐसे चालान और दोबारा गलती ना करने के लिए सबसे पहले आपको यह जानना जरूरी होगा कि कौन सा ट्रेफिक सिगनल किस लिए काम आता है और कितने सिग्नल और कानून होते हैं सड़क के लिए. यह कायदे कानून केवल सड़क पर गाड़ी चलाने वालों के लिए नहीं बल्कि सड़क पर पैदल चलने वालों पर भी लागू होते हैं और जिनका पालन करना हम सभी के लिए अनिवार्य होता है. तो चलिए जानते हैं यातायात के नियम और कानून तथा ट्रैफिक सिग्नल के बारे में पूरी जानकारी –

यातायात से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी (Traffic Related Importent Information)

  1. पार्किंग सही स्थान पर करे

आप जब भी चाहे कहीं पर जाए हमेशा जहां पर पार्किंग करने का स्थान होता है वहीं पर अपनी गाड़ी पार्क करें. अन्य किसी भी जगह पर अपनी गाड़ी को नहीं घुसाना है, क्योंकि ऐसे में आपकी गाड़ी और दूसरों की गाड़ी को काफी परेशानियां होती है. ऐसे में आप पार्किंग सिगनल देखकर ही अपनी गाड़ी को पार्क करें अन्यथा नहीं.

  1. ओवरटेक की स्थिति पैदा ना करें

बहुत बार हम कुछ ज्यादा ही उत्साह में आकर या फिर साफ शब्दों में कहे तो जोश में आकर अपनी गाड़ी की स्पीड बढ़ा देते हैं. ऐसा करना ना ही हमारे लिए सही है और ना ही सड़क पर चल रही दूसरे व्यक्तियों के लिए. ऐसे में आप कभी भी किसी से रेस ना लगाएं और ना ही ओवर ट्रैक करने की कोशिश करें. अपनी उत्तेजना और भावनाओं पर काबू पाईए है और सावधानीपूर्वक गाड़ी चलाया कीजिए.

  1. हॉर्न बजा कर परेशानियां ना पैदा करें

बहुत बार ऐसा होता है कि हम थोड़ा जल्दी में होते हैं लेकिन सामने वाला अपने अलग ही मूड में होता है. ऐसे में अगले वाले का हमें साइड न देने पर हम बहुत बार हॉर्न को बजाते रहते हैं, ऐसा करना ट्रैफिक रूल्स के खिलाफ माना जाता है. ऐसा करने से यानी कि बार-बार हॉर्न बजाने से कोई भी व्यक्ति आपको साइड आसानी से नहीं देगा और इसके अलावा हॉर्न के कारण ध्वनि प्रदूषण भी होता है. इसके कारण आपको चालान लग सकता है तो हमेशा ध्यान रखें जितना हो सके जरूरत पड़ने पर ही हॉर्न बजाएं अन्यथा नहीं.

  1. सिंगल साइड रोड का पालन करें

अगर आप किसी सिंगल साइड रोड पर गाड़ी चला रहे हैं तो आपको उसी सिंगल लाइन को फॉलो करना होगा ना कि अपनी मर्जी मुताबिक गाड़ी को अन्य लाइनों में चलाना. अगर आप कभी भी गलत लाइन में खासकर सिंगल साइड रोड पर चलते हुए दिखाई दिए तो यह आपके लिए और रोड पर चल रहे अन्य गाड़ियों के लिए दुर्घटनाग्रस्त स्थिति पैदा करने वाला हो सकता है.

  1. जल्दबाजी में यू-टर्न ना लें –

बहुत बार हमें किसी कारणवश अपनी गाड़ी को उसी सिंगल रोड में दूसरी तरफ वापस मोड़ना होता है यानी कि यू-टर्न की स्थिति पैदा होती हैं. ऐसे में कभी भी अपनी मर्जी के मुताबिक यू-टर्न ना लें,  सबसे पहले आसपास में देखें अगर सड़क एकदम खाली दिखाई दे रही है सामने से कोई दूसरी गाड़ी नहीं आ रही है तभी आप यू-टर्न लें.

  1. सिग्नल के लिए हाथों का इस्तेमाल करें

जब हम किसी सड़क पर चल रहे होते हैं तो अचानक मोड आने पर हमें कभी भी डायरेक्ट अपनी गाड़ी को उस मोड में मोड़ देना नहीं चाहिए. क्योंकि ऐसे में पीछे वाले व्यक्ति को पता नहीं चलता है और आप दुर्घटना के शिकार हो सकते हैं. इसके लिए आप अपने हाथों द्वारा सिग्नल बताएं ताकि पीछे वाला व्यक्ति सतर्क हो जाए कि आप यहां पर मोड़ लेने वाले हैं.

  1. वाहन की गति पर नियंत्रण रखें

आप चाहे स्कूटर चलाएं साइकिल चलाएं या फिर कार चलाएं कभी भी जोश में आकर अपना होश ना खोएं. हमारा कहने का मतलब यह है कि जब भी अच्छी रोड दिखाई देती हैं तो हर कोई अपनी गाड़ी की स्पीड बढ़ा लेता है जो कि बिल्कुल भी सही नहीं है. आप हमेशा ट्रैफिक सिग्नल द्वारा निर्धारित की गई रेस के अनुसार ही अपनी गाड़ी की गति बढ़ाएं ना की इच्छा अनुसार.

यातायात के संकेत और उनकी जानकारी (Traffic Signs and Its Information)

यहां पर हम आपको कुछ यातायात के संकेत बताने वाले हैं और उन संकेतों का क्या मतलब होता है वह भी हम बताएंगे. तो चलिए जानते हैं यातायात के संकेतों के बारे में और इनका किस प्रकार पालन करना चाहिए –

1.एक तरफा साइड रोड इस संकेत का मतलब होता है कि आप गलत साइड में अपना वाहन नहीं ले जा सकते हैं.

2.एक तरफा साइड ट्रैफिक – इस संकेत का मतलब होता है कि आप दूसरी साइड से अपना वाहन नहीं ले जा सकते हैं.

3.दोनों दिशाओं में वाहन ले जाना मना इस संकेत का मतलब होता है कि आप दोनों दिशा में अपना वाहन नहीं ले जा सकते हैं.

4.बाईं तरफ मोड़ना वर्जित – इस संकेत का मतलब होता है कि आप अपने वाहन को बाई  दिशा में नहीं ले जा सकते हैं.

5.दाईं तरफ मोड़ना वर्जित इस संकेत का मतलब होता है कि आप अपने वाहन को दाईं दिशा में नहीं ले जा सकते हैं.

6.ओवरटेकिंग वर्जित इस संकेत का मतलब होता है कि आप इस एरिया में ओवर टेकिंग नहीं कर सकते हैं.

7.पार्किंग वर्जित इस संकेत का मतलब होता है कि आप इस एरिया में अपने वाहन को पार्क नहीं कर सकते हैं.

8.स्टिपिंग वर्जित इस संकेत का मतलब होता है कि आप इस एरिया में अपने वाहन को नहीं रोक सकते हैं.

9.यू टर्न वर्जित – इस संकेत का मतलब होता है कि आप इस एरिया में सड़क पर यू-टर्न नहीं ले सकते हैं वरना चालान का फंडा महंगा पड़ेगा.

10.ट्रक वर्जित इस संकेत का मतलब होता है कि आप इस एरिया में भारी वाहन नहीं ले जा सकते हैं जैसे कि ट्रक.

11.साइकिल वर्जित – इस संकेत का मतलब होता है कि आप इस एरिया में साइकिल नहीं चला सकते हैं.

  1. लाल लाइट – लाल लाइट का मतलब होता है कि आपको रुकना है. जब भी किसी भी ट्रैफिक वाले एरिया में आपको लाल लाइट दिखे तो समझिए आप अपनी गाड़ी को इस लाइन से क्रॉस नहीं कर सकते हैं आपको अपनी गाड़ी को रोकना होगा.
  2. पीली लाइट – पीली लाइट का मतलब होता है यहां पर ट्रैफिक इतना ज्यादा नहीं है आप अपने वाहन को धीमी स्पीड से निकाल सकते हैं.
  3. हरी लाइट – हरी लाइट का मतलब होता है कि आप अपने वाहन को बड़ी आसानी से ले जा सकते हैं. हरी लाइट दिखते ही अपने वाहन को बिना किसी परेशानी के बड़ी आसानी से ले जा सकते हैं और चालान कटवाने का भी कोई डर नहीं होता है.

यातायात नियमों का पालन क्यों करें ? (Why to Follow Traffic Rules ?)

भारत सरकार द्वारा यातायात के लिए बनाए गए कानून कायदों का हम सभी को पालन करना चाहिए. क्योंकि यह कानून कायदे भारत सरकार ने अपने फायदे के लिए नहीं बनाये हैं, बल्कि हमारे फायदे और सुरक्षा को लेकर बनाए हैं. सरकार द्वारा जितनी भी सड़क और यातायात को लेकर नियमों के उल्लंघन पर जुर्माने लगाए हैं वह सब हमारे हितो में रहकर लगाए हैं. आज अगर देखा जाए तो भारत में यातायात को लेकर बहुत सारे और काफी अच्छे नियम और ट्रैफिक सिग्नल हर गली चौराहे पर बने हुए हैं, लेकिन फिर भी आए दिन हजारों की संख्या में चालान कटते हैं और कई सैकड़ों में लोगों की मौत होती हैं सड़क दुर्घटनाओं के कारण.

विभिन्न राज्यों में यातायात के नियम (Traffic Rules in Different States)

हम आपको यह भी बता देना चाहते हैं कि भारत सरकार द्वारा हाल ही में अलग-अलग राज्यों के लिए नये यातायात के नियम बनाए हैं जिनको जान लेना आपके लिए काफी फायदेमंद होगा. क्योंकि बिना यातायात के नियम की जानकारी रखें आप उनका उल्लंघन कर बैठेंगे और फिर चालान या फिर दुर्घटना का शिकार बनेंगे. तो चलिए जानते हैं भारत सरकार द्वारा नये यातायात के नियम और कायदे –

  • उत्तराखंडउत्तराखंड के नैनीताल उच्च न्यायालय ने हाल ही में एक नया कानून पारित करते हुए घोषित किया है कि उत्तराखंड राज्य में कोई भी व्यक्ति गाड़ी चलाते हुए फोन का इस्तेमाल नहीं कर सकता. गाड़ी चलाते हुए फोन का इस्तेमाल किए जाने पर ट्रैफिक पुलिस गाड़ी चालक को 24 घंटे तक हिरासत में रख सकती हैं और उसके अलावा उसके फोन को भी अपने कब्जे में ले सकती है. ऐसे में आप सतर्क रहें कि कभी भी गाड़ी चलाते हुए फोन का इस्तेमाल ना करें.
  • राजस्थानराजस्थान उच्च न्यायालय जोधपुर में नया कानून पारित करते हुए घोषित किया गया कि कोई भी व्यक्ति यातायात संबंधित किसी भी प्रकार के ट्रैफिक सिग्नल का उल्लंघन करता हुआ पाया जाता है, तो उस पर सख्त कार्रवाई होगी. सबसे पहले उसकी गाड़ी जब्त कर ली जाएगी, उसके बाद उस व्यक्ति का लाइसेंस नजदीकी आरटीओ ऑफिस में भिजवा कर रद्द कर दिया जाएगा. ऐसे में हमेशा ट्रैफिक सिग्नल और ट्रैफिक पुलिस दोनों का ही ध्यान रखकर गाड़ी चलाएं.
  • बैंगलोर और पुणेदेश में बढ़ रहे ध्वनि प्रदूषण को लेकर भारत सरकार ने खासकर बेंगलूर और पुणे जैसे आईटी क्षेत्र वाली सिटीज में लाउड साइलेंसर के इस्तेमाल पर प्रतिबंध कर दिया है. यानी कि अब कोई भी व्यक्ति अपनी बाइक जैसे कि बुलट या फिर रॉयल इनफील्ड जैसी भारी गाड़ियों पर लाउड साइलेंसर का इस्तेमाल नहीं कर सकता है. आपको जानकर हैरानी होगी कि लाउड साइलेंसर के द्वारा भी दुर्घटनाएं होने के चांस ज्यादा रहते है.

इसके अलावा कुछ छोटे ट्राफिक नियम हैं जिनको जान लेना भी आपके लिए काफी फायदेमंद होगा. तो चलिए जानते हैं इन नए यातायात के नियमों के बारे में –

  • यातायात के नई मोटर अधिनियम के अनुसार कोई भी व्यक्ति भारत में गाड़ी चलाते समय वीडियो देखता है या फिर फोन जैसे उपकरणों का इस्तेमाल करता है, तो उसे कानून द्वारा सख्त दंड दिया जाएगा. जैसे-जैसे गाड़ियां नई-नई आती जा रही है उनमें नए-नए फंक्शन आते जा रहे हैं, उन्हीं में से एक फंक्शन गाड़ी के अंदर ही छोटी स्क्रीन लगी होती है जिसमें व्यक्ति बड़े ही आराम से वीडियो देख सकता है लेकिन ऐसा करते पाए जाने पर उसे चालान का भुगतान करना पड़ेगा.
  • कभी भी सरकारी गाड़ियों के सामने अपनी गाड़ी पार्क ना करें. आप कभी भी एंबुलेंस अग्निशमन गाड़ी और पुलिस वाहन के सामने अपनी गाड़ी को पार्क नहीं करें, अन्यथा आपको चालान का भुगतान करना पड़ सकता है. ऐसा किए जाने पर आपको 2000 या फिर उससे अधिक का जुर्माना भी देना पड़ सकता है और इसके अलावा आपकी गाड़ी को जब्त भी किया जा सकता है.
  • भारत के सड़क और परिवहन निगम द्वारा एक नया कानून प्रवृत्त किया गया है जिसमें अगर कोई व्यक्ति एक ही जुर्म दोबारा करता है तो दूसरी बार उस पर जुर्माना नहीं लगाया जा सकता बल्कि उन पर कड़ी कर्यवाही की जाएगी. यानी कि अगर किसी व्यक्ति ने ट्रैफिक सिग्नल का उल्लंघन किया है तो उस पर जुर्माना लगेगा और उसे एक रसीद दी जाएगी लेकिन दूसरी बार वह फिर इसी सिग्नल का उल्लंघन करता है तो उस पर जुर्माना नहीं लगाया जाएगा बल्कि उसे रियासत में लिया जा सकता है. अगर व्यक्ति किसी दूसरे राज्य में ऐसा करता हुआ पाया गया तो उस पर बकायदा जुर्माना लगाया जाएगा बिना किसी रियायत के.

पैदल चलने वाले लोगों के लिए यातायात के नियम (Traffic Rules for Pedestrians)

यातायात के नियमों का पालन करना हमारा कर्तव्य ही नहीं बल्कि हमारा धर्म भी होना चाहिए. क्योंकि सड़क पर केवल हम अकेले ही अपनी गाड़ी लेकर नहीं चलते हैं, बल्कि अन्य हजारों लोग भी अपने घर से गाड़ी लेकर निकलते हैं. आए दिन होने वाले एक्सीडेंट और सड़क दुर्घटनाएं हमें एक बार के लिए काफी डरा देती हैं क्योंकि हम नहीं चाहते हैं कि हमारे साथ कभी भी ऐसा हो. अगर आप ऐसा नहीं चाहते हैं तो सबसे पहले आपको ट्रैफिक सिग्नल और यातायात के नियमों के बारे में जानना चाहिए. इसके अलावा आप एक ट्रैफिक सिग्नल बुक भी ले सकते हैं जो मात्र 10 से 15 रूपये में बाजार से प्राप्त कर सकते हैं, जिसमें आप ट्रैफिक सिग्नल और उनके नियमों और उनके उल्लंघन पर लगने वाले चार्ज के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

यातायात नियम ना केवल सड़क पर गाड़ी चलाने वालों के लिए लागू होते हैं बल्कि सड़क पर पैदल चलने वालों पर भी लागू होते हैं. अगर आप पैदल चल रहे हैं तो ऐसा मत सोचिए कि आप पर किसी भी प्रकार का चालान नहीं लग सकता. अगर आप पैदल चलते हुए भी किसी भी प्रकार का कोई भी सिग्नल का उल्लंघन करते हैं तो आप पर भी चालान लग सकता है या फिर आप दुर्घटना के शिकार हो सकते हैं.

  • ऐसे में आप हमेशा सड़क पार करते समय पहले चारों तरफ अच्छे से देख ले उसके बाद ही सड़क को पार करें अन्यथा नहीं.
  • सड़क पार करते समय कभी भी तेज भाग कर ना जाए हमेशा धीरे धीरे चले.
  • जब तक ट्रेफिक सिगनल द्वारा आपको सड़क पार करने का आदेश नहीं दिया जाता, तब तक आप जल्दबाजी में सड़क पार करने का जोखिम कभी भी ना उठाएं.
  • सड़क पर चलने के लिए अलग से बनाए हुए फुटपाथ पर ही चले ना कि सड़क के ऊपर.
  • सड़क पर चलते समय कभी भी ऐसी स्थिति पैदा ना करें जिससे सड़क पर ट्रैफिक जाम लगे.

भारत सरकार के सड़क और परिवहन निगम द्वारा बनाए गए, नए और पुराने सभी यातायात के नियमों का पालन करना हमारे लिए अनिवार्य होता है. कुछ नये यातायात के नियमों का केवल एक ही उद्देश्य होता है सुचारु रुप से यातायात का संचालन करवाना ताकि सड़क पर किसी भी प्रकार की दुर्घटना होने की संभावना ना रहे. लोगों के अंदर सड़क दुर्घटनाओं को लेकर जो भी डर है वह उनके दिलों से बाहर निकले और वे भी यातायात के नियमों का पालन करते हुए सुचारू रूप से अपनी मंजिल तक पहुंचे.

अतः हमें आशा है कि हमारे द्वारा दी गई यातायात और ट्रैफिक सिग्नल की जानकारी से आप संतुष्ट होंगे. आप जितना जल्दी हो सके इन सभी नियमों और ट्रैफिक सिग्नल के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त कर लीजिए. ताकि आपको भविष्य में कभी भी किसी भी ट्रैफिक पुलिस के हवलदार के द्वारा चालान का भुगतान ना करना पड़े और आप एकदम सुरक्षित और सुचारू रूप से यात्रा संपन्न करें. नए अपडेट किए गए यातायात नियम न केवल सड़कों पर यातायात के सुचारू संचालन को सुनिश्चित करेंगे, बल्कि सड़क पर होने वाली किसी भी दुर्घटना की संभावना को भी कम कर देंगे.

अन्य पढ़ें –

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top