उत्तरप्रदेश गेहूं खरीदी की जानकारी

इस साल गेहूं की खरीद पर 2015 रूपये का न्यूनतम समर्थन मूल्य यानि कि एमएसपी का निर्णय लिया।

इसके रजिस्ट्रेशन 1 मार्च से शुरू हो  गए  थे और यह 15 जून तक चलेंगे।

सरकार ने इस साल 2022 में गेहूं खरीदने के लिए 6000 क्रय केंद्र बनवाये है। और गेहूं खरीदने का 55 लाख मीट्रिक टन का टारगेट रखा है।

सभी खरीद केन्द्रों में टोकन व्यवस्था लागू होगी, टोकन नंबर की जानकारी के साथ ही किस दिन एवं समय पर किसान अपने गेहूँ की खरीद के लिए जायेंगे यह सब जानकारी किसानों के मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से पहुंचाई जाएगी. 

किसानों को पंजीकरण करने के लिए खाद्य एवं रसद विभाग के ई – क्रय प्रणाली अधिकारिक पोर्टल पर जाकर आवेदन करना होगा।

. खतौनी, खसरा संख्या और जमीन एवं गेहूँ का रकबा आदि देना आवश्यक . किसानों को अपने आधार कार्ड, बैंक पासबुक, और अपने खेत का राजस्व अभिलेख से संबंधित जानकारी देना भी आवश्यक है।

दस्तावेज (Documents)

. लाभार्थी उत्तरप्रदेश का होना आवश्यक है। . लाभार्थी किसान को गेहूं के खेत का सारा विवरण संबंधित जानकारी देना अनिवार्य होगा। . लाभार्थी को खतौनी, खसरा संख्या, गेहूं का रकबा भरना आदि आवश्यक होगा। . गेहूं की बिक्री करने के पश्चात आपको केंद्र प्रभारी से पावती पत्र प्राप्त करने की आवश्यकता होगी।

जरुरी बाते

पोर्टल के जरिये किसान अपनी फसल आसानी से बेच सकेंगे और उन्हें 72 घंटे में गेहूं की फसल का भुगतान मूल्य बैंक अकाउंट में मिल जायेगा।

18001800150

टोल फ्री नंबर

गेहूं पंजीकरण से संबंधित अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें

यह स्टोरी यूपी के निवासियों के साथ शेयर करें