Yellow Star

द्रौपदी मुर्मू : पति की मौत और फिर 2 बेटों को भी खोया

द्रौपदी मुर्मू  20 जून 1958 को ओडिशा के मयूरभंज जिले के बैदापोसी गांव में जन्मीं थी वह आदिवासी संथाल परिवार से ताल्लुक रखती थी बिरंची नारायण टुडू उनके पिता का नाम था 

उनका विवाह श्याम चरण मुर्मू से हुआ था उनके दो बेटे और एक बेटी थी उन्होंने शादी के कुछ समय बाद पति और अपने दोनों बेटों को खो दिया था 

उन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक टीचर के रूप में की घर चलाने और बेटी को पढ़ाने के लिए

इसके बाद उन्होंने एक क्लर्क के पद की नौकरी की ओडिशा के सिंचाई विभाग में

द्रौपदी मुर्मू ने ओडिशा के मयूरभंज में रायरंगपुर जगन्नाथ मंदिर में झाड़ू भी लगाई है

मुर्मू ने कॉलेज की पढ़ाई के बाद एक बैंक में नौकरी हासिल कर ली.

अब मुर्मू ने झारखंड के गणेश से शादी करली है और वह अब रांची में रहती हैं एक बेटी आद्याश्री भी है. 

साल 1997 में रायरंगपुर नगर पंचायत के पार्षद चुनाव में जीत दर्ज कर अपने राजनीतिक जीवन का आगाज किया था.