इस्लामिक सहयोग संगठन, ओआईसी, की 48वी फॉरेन मिनिस्टर्स मीटिंग इस्लामाबाद, पाकिस्तान में हुई।

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ओआईसी से दिखे असंतुष्ट।  एक तरह से उनका कहना है कि फिलिस्तीन और कश्मीर के लोगो के लिए बड़ा कदम लेने से चूका है ओआईसी।

अफगानिस्तान की स्थिरता को ले कर भी मीटिंग में हुई चर्चा

यहां चीन के विदेश मंत्री वांग यी द्वारा भी कश्मीर का मुद्दा उठाया गया, जिसपर भारत ने तीखी प्रतिक्रिया देते हुए इसे अनावश्यक बताया।

तुर्की के विदेश मंत्री ने यूरोप में बढ़ते एंटी इस्लामिक स्टैंस पर भी चिंता ज़ाहिर की। साथ ही उइगर मुस्लिमों से जुड़े मुद्दे भी उठाए।

इमरान खान का अनोखा सुझाव भी सामने आया जिसमे उन्होंने चीन और ओआईसी कंट्रीज को यूक्रेन क्राइसिस पर एकजुट होने को कहा।  पर किसी भी लीडर ने इस सुझाव को गंभीरता से नहीं लिया।

क्या है ओआईसी ? 57 मेंबर्स वाला ये संगठन इस्लामिक देशों के बीच सहयोग की भावना को प्रबल करने के उद्देश्य से बनाया गया है। इनमे से छप्पन देश यूएन के मेंबर्स हैं, फिलिस्तीन को छोड़ कर।

देश दुनिया से जुड़ी सभी ताज़ा खबरों के लिए नीचे क्लिक करें:

Arrow