थाली में एक साथ 3 रोटी नहीं परोसते, जानिए इसके पीछे का रहस्य

अक्सर आपने बड़े बुजुर्गों को यह बोलते सुना होगा कि थाली में एक साथ 3 रोटी नहीं परोसना चाहिए, इसके पीछे खास वजह हैं. 

दोस्तों खाने की थाली में एक साथ 3 रोटी नहीं परोसने का धार्मिक एवं वैज्ञानिक दोनों कारण हैं.

हमारे धार्मिक शास्त्रों में रोटी बनाने एवं परोसने का तरीका बताया गया है. इसलिए इसके कुछ नियम भारतीय परंपरा का हिस्सा हैं.

जब किसी व्यक्ति की मृत्यु होती है तो उसकी 13वीं में उसके नाम की थाली में 3 रोटी या 3 पूरी रखी जाती है.

अतः 3 रोटी या 3 पूरी वाली थाली को मृतक की थाली कहते हैं, इसलिए आम दिनों में एक बार में 3 रोटी नहीं परोसी जाती है.

वैज्ञानिक, डॉ एवं विशेषज्ञों के अनुसार व्यक्ति को एक बार में ज्यादा खाना नहीं खाना चाहिए, बल्कि 3-4 बार थोड़ा-थोड़ा खाना चाहिए. 

एक सामान्य व्यक्ति को एक बार में 1 कटोरी दाल, सब्जी, 50 ग्रा चावल एवं 2 रोटी खाना चाहिए.

इससे ज्यादा एक बार में खाने वाले व्यक्ति को कई समस्याएं एवं बीमारी भी पैदा हो सकती है. 

इसके अलावा धर्म, ज्योतिष एवं विज्ञान में अंक 3 का उपयोग सही नहीं माना गया है. इसलिए एक बार में 3 रोटी परोसना अशुभ है.

थाली में एक साथ 3 रोटी परोसने से खाने वाले के मन में लड़ाई-झगड़े या नकारात्मक भाव आते हैं, इसलिए भी 3 रोटी नहीं परोसना चाहिए.

इसी तरह की और जानकारी के लिए हमारे टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन करें.

Arrow